किरात पर आचरण एवं व्यवहार

किरात एक सामाजिक प्लेटफार्म है, यहाँ विभिन्न प्रकार के जाती, धर्म, लिंग, उम्र और क्षेत्र के लोग अपनी ज्ञान की प्यास बुझाने आते हैं। यहाँ दुनिया को समझने का इच्छुक १३ साल का बच्चा और दुनिया को अपने ज्ञान से रौशन करने वाले ८० साल के बुज़ुर्ग से २५ साल के जवान भी आते हैं इस लिए हमारा फ़र्ज़ बन जाता है की किरात को हम सब के लिए सुरक्षित और ज्ञान का एक स्वस्थ स्रोत बनाएं।

किरात पर कोई भी जवाब देने या कमेंट करने से पहले इन नीतियों को ध्यान में रखें। इनका उलंधन करने पर आपके अकाउंट पर पाबन्दी लगयई जा सकती है

1. निति नंबर एक “अच्छे बनो” : यानी बुरा कमेंट न करें , कोई ऐसी बात न लिखें जिससे लेखक या सवाल पूछने वाले का दिल दुखे
२. निति नंबर दो “ईमानदारी”: कोई भी जवाब ऐसा न दें जिस में सच न हो या सच को तोड़ मरोड़ कर लिखा गया हो
३. निति नंबर तीन “किरात बेचने का प्लेटफार्म नहीं है” : अगर आप किसी चीज़ या सेवा की बिक्री बढ़ाने के लिए किरात पर जवाब लिखते पाए गए तो हम आपको जीवन bhar के लिए ban कर देंगे