बेनाम जवाबों के बारे में

कई बार लेखक अलग अलग वजहों से अपने लेख के साथ अपना नाम नहीं जोड़ना चाहते। मिसाल के तौर पर आप अपने ऑफिस में हुई एक बात अपने जवाब में शेयर करना चाहते हैं परन्तु डर लगता है की अगर ऑफिस में किसी ने पढ़ लिया तो कहीं नौकरी न चली जाये . कभी ऐसा भी होता है की मन की कुंठा निकाल देने पर डर रहता है की कहीं उस जवाब या सवाल की वजह से कोई हम से आ कर सवाल जवाब न करे, इन सभी परिस्तिथियों में आप बेनामी जवाब दे सकते हैं। जवाब में आपका नाम नहीं आएगा।

ऐसा कैसे संभव है ?

जब आप बेनामी जवाब देते हैं तो हम आपके जवाब को दुसरे खाते से स्टोर करते हैं। हमारी तकनीक इतनी प्रभावशाली है की अगर कोई हमारे सर्वर में घुस भी जाये तो ये पता करना असंभव रहेगा की उसे किसने लिखा है। . यहाँ tak की हम खुद नहीं जानते की कोनसा जवाब किसने लिखा है

क्या ये ग़ैर क़ानूनी नहीं है ?

अगर आप कोई ऐसी चीज़ लिखते हैं जिससे किसी को जान बूझ कर नुकसान पहुँचाना आपका मक़सद है तो ये ग़ैर क़ानूनी होने के साथ साथ हमारी नीतियों के भी खिलाफ है, ऐसे जवाबों को हम हटा देंगे

अहम् बातें बेनामी जवाबों के बारे में

  1. बेनामी जवाब में आपका नाम नहीं रहेगा
  2. कोई ग़ैरकानूनी कंटेंट होने पर हम आपका अकाउंट बंद कर देंगे
  3. कानूनी नोटिस मिलने पर हम आपका IP एड्रेस साझा कर सकते हैं
  4. हमारे डेटाबेस में आपके द्वारा जवाब लिखे जाने का कोई रिकॉर्ड नहीं रहता
  5. आप बेनामी जवाबों की एडिट नहीं कर पाएंगे

किरात पर लिखे गए सभी बेनामी जवाब और सवाल इस पेज से जोड़ दिए जाते हैं ताकि जो लोग बेनामी जवाबों को फॉलो करना चाहते हों वो फॉलो कर पाएं। इस से लेखक की निजता बरक़रार रहती है और सभी बेनामी जवाब एक जगह देखे जा सकते हैं