आप के फ़ोन में UIDAI नाम से किस का नंबर है और कहाँ से आया?

, टेक्निकल बंजारा हूँ मैं

जवाब 10 महीने पहले लिखा गया • आपको इस में दिलचस्पी हो सकती है

अगर आप स्मार्टफोन इस्तेमाल करते है और आप अपने फ़ोन में नम्बरों की लिस्ट अभी चेक करें तो हो सकता है एक नंबर सेव मिले

 

दरअसल UIDAI के नाम से लोगों के फ़ोन में सेव ये नंबर आधार कार्ड जारी करने वाली सरकारी संस्थान UIDAI का नहीं है.. मामला तब सामने आया जब अचानक लोगों ने अपने फ़ोन में ये नंबर नोटिस किया और पड़ताल करने पर पता चला की ये नंबर अचानक लोगों के फ़ोन में दिखाई पड़ने लगा है ..

मगर ये नंबर आया कहाँ से ?

जानी मानी कंपनी गूगल एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम के डेवलपमेंट यानि विकास का काम करती है .. उसमे नए फीचर और लेटेस्ट वर्शन ले कर आती है ... 2014 में कंपनी ने अपनी वेबसाइट पर फ़ोन बनाने वाली भारतीय कंपनियों के लिए जब एंड्राइड का नया वर्शन डाला था तब दो चीज़ें जोड़ दी थी - 1 नंबर था इमरजेंसी नंबर 112 और दूसरा था UIDAI आधार एजेंसी का नंबर. उस समय ये नंबर UIDAI का ही हुआ करता था. बाद में ये नंबर UIDAI ने हटा दिया मगर लोगों के फ़ोन में अब भी वो नंबर है क्यों के फ़ोन बनाने वाली कंपनियों ने पहले वाले एंड्राइड वर्शन का इस्तेमाल किआ था और जब लोगों ने अपने फ़ोन में गूगल अकाउंट से लॉगिन किआ तो वो नंबर गूगल अकाउंट के कॉन्टेक्ट्स में अपलोड भी हो गया.. तो अगर आपने कोई पुराना स्मार्ट फ़ोन चलाया है तो हो सकता है ये नंबर उसी में से आपके गूगल अकाउंट द्वारा नए फ़ोन में आया हो

 

उठ रहे हैं सवाल 

लोग गूगल के तर्क को भले ही मान गए हों मगर ये सवाल भी उठ रहे हैं की अगर नंबर 2014 में ही आ गया था तो ये अचानक 2018 में क्यों इशू बन रहा है .. दुसरे ये के इमरजेंसी नंबर फ़ोन के डालने का आर्डर सरकार द्वारा 2016 में आया तो गूगल ने पहले ही कैसे उसे एंड्राइड में सेव कर दिया

 

नहीं है कोई खतरा 

व्हाट्सप्प और फेसबुक द्वारा ये अफवाह फैलाई जा रही है के इस नंबर से फ़ोन हैक हो जायेगा इसे डिलीट करें .. इत्यादि. इसमें कोई सच नहीं है. ये नंबर गूगल द्वारा सेव हुआ है न की किसी हैकर द्वारा. नंबर चाहे आप डिलीट करें या न करें, डरने की कोई आवश्यकता नहीं है .

Related image

6224 बार पढ़ा गया · 889 Upvotes
Upvote 889
जवाब लिखें