सवाल

इंफ्रास्ट्रक्चर में भारत चीन से पीछे क्यों हैं ?

किरात सदस्यों द्वारा लिखे गये जवाब

राजनीति
, पंजाबी

जवाब 2 years पहले लिखा गया • आपको इस में दिलचस्पी हो सकती है

एक बार एक चीनी, भारतीय और अफ्रीकी अफसर मिले और उनमे अच्छी दोस्ती हो गयी, फिर उन्हें एहसास हुआ की वो केवल कॉन्फरेंसों में ही मिलते हैं , अब उन्हें अपनी दोस्ती आगे बढ़ानी चाहिए.. सो तीनो ने मिलकर फैसला लिया की तीनो एक एक कर के एक दुसरे के घर जायेंगे ...

सब से पहली बारी चीनी अफसर की थी... तो बाक़ी दोनों अफसरों के साथ चीनी अफसर ने बीजिंग एयरपोर्ट से एक जहाज़ किआ और प्रोविंस के एक शहर में पहुंचे.... वहां से उन्हों ने एक सड़क ली जो 6 लेन की खूबसूरत सड़क थी ... वहां से वो एक क़स्बे में पहुंचे जिसमे उस चीनी अफसर का बहुत बड़ा, खूबसूरत सा घर था.

"ये घर तो बड़ा ज़बरदस्त है .... सरकारी नौकरी के पैसों से ये घर कैसे बना लिया आपने?",
भारतीय और अफ्रीकी अफसर ने एक ही सांस में पूछ डाला ..

"जी, आप लोगों ने 6 लेन वाला नया हाईवे देखा जिससे हम लोग आये हैं ...., मैंने उसी हाईवे के पैसों में से कुछ पैसे ले के अपना घर बनवा लिया..."
चीनी अफसर ने जवाब दिया ..

बाक़ी दोनों अफसर मुस्कराये  ... मगर काफी इम्प्रेस हुए.

अब मेज़बानी की अगली बारी भारतीय अफसर की थी. वो सब लोग दिल्ली के एयरपोर्ट से एक छोटे क़स्बे के लिए निकले... दिल्ली तक तो सब ठीक था पर जैसे ही आगे बढे ... उन्हें एक लम्बी सी सड़क से होते हुए जाना था .. जगह जगह गढ्ढे , कहीं नाली कहीं कीचड़ ... बड़ी मुश्किल से वो अपने क़स्बे में पहुंचे ... वहां अफसर का एक शानदार घर था.. चीनी अफसर हक्का बक्का रह गया ... और उसने पूछ डाला ...
"
आप सरकारी नौकरी के पैसों से इतना शानदार घर कैसे बनवा पाए?"....तो भारतीय अफसर ने जवाब दिया .... आपने  वो हाईवे देखा जिससे हम आये... बस उसी में से कुछ पैसे ले कर मैंने अपना घर बनवा लिया .....

अब एक साल बाद अफ्रीकी अफसर की बारी थी... वो एयरपोर्ट गए और वहां से जंगल के बीचो बीच दुसरे एयरपोर्ट पर गए.. वहां से उन्होंने एक हेलीकाप्टर लिया और जंगल के बीचों बीच बने बंगले के ऊपर उतरे ... उड़ते हुए उन्हें कोई सड़क नज़र नहीं आयी..

बांग्ला ऐसा शानदार था की आंखें फटी रह जाएं ... तो चीनी और भारतीय अफसर एक साथ बोले आप ने सरकारी नौकरी के पैसों से ऐसा बांग्ला कैसे बनवा लिया ...

"अरे हाँ... आप ने वो हाईवे  देखा जिससे हम आये थे....
?"
अफ्रीकी अफसर ने पूछा.... :)

---

हर जोक के पीछे थोड़ी से सच्चाई तो होती ही  है .. इन तीनो देशों में भ्रस्टाचार की सीमाएं अलग अलग है.. भारत और अफ्रीका के भष्टाचार की वजह से या तो कोई काम होता ही नहीं है या अगर हो भी जाये तो बहुत हम होता है. एक तरफ भारत और अफ्रीका अपने प्रोजेक्ट ख़तम नहीं कर पते तो दूसरी तरफ चीन ज़रुरत से भी जयादा प्रोजेक्ट बनाते हैं ...

इस जवाब जो अलग से खोलें
21,688 बार देखा गया · 4365 Upvotes
Upvote 4365
क्या आप इस सवाल का अच्छा सा जवाब दे सकते हैं ?

जवाब लिखें