सवाल

क्या आपको लगता है के कौमा में मरीज़ सुन सकता होगा ?

किरात सदस्यों द्वारा लिखे गये जवाब

जीवन के अनुभव
, भविषय की डॉक्टर

जवाब 2 years पहले लिखा गया • आपको इस में दिलचस्पी हो सकती है

हाँ. मुझे भी इस बात को मान ने में बहुत समय लगा की कॉमा में मरीज़ हमें सुन सकते हैं. , क्यों में सब लोगो की तरह मुझे मझे फिल्मों में बेवक़ूफ़ बनाया गया था की कॉमा का मतलब है आधा मारा हुआ इंसान.

खैर, कॉलेज के पहले साल में हॉस्पिटल में काम करने से पहले हमें बताया गया के मरीज़ के बैड पर कैसे बात करनी है .

हमें सख्ती से ये बताया गया था की हमें पहले मरीज़ का अभिवादन करना है जैसे नमस्कार या  सलाम या गुड मॉर्निंग वगैरा फिर हमें बताना है की हम आगे क्या करने जा रहे हैं

उदहारण के तौर पे हमें बोलना है "नमस्ते सर , मेरा नाम श्रेया है और मैं आज आपकी रेस्पिरेटरी थेरेपिस्ट हूँ , मैं आपके लंग्स का टेस्ट करुँगी और थोड़ा सा खून का सैंपल लुंगी फिर ऑक्सीजन चेक करुँगी, ठीक है न ? चलिए शुरू करते हैं "

हमें ये  ख़ास तौर से बताया गया की हमें हर मरीज़ से बोलना है जिसमे कॉमा के मरीज़ भी शामिल है  चाहे मरीज़ बेहोश ही क्यों न हो . आप पूछ सकते हैं क्यों? क्यों के कॉमा के कई मरीज़ों को सुनते हुए रिपोर्ट किआ गया था और हर मरीज़ का हक़ है की उसे पहले बताया जाये के उसके साथ क्या किया जायेगा

गेस्ट लेक्चरर ने, जो खुद एक डॉक्टर थे, इसी से जुडी एक घटना सुनाई,

उन्होंने बताया की एक दिन एक कॉमा के मरीज़ के साथ एक रूम में थोड़ा सीरियस डॉक्टर वाला ऐटिटूड हटा के वो अपने साथी डॉक्टर से कहने लगे की मेरा पर्स खो  गया है. उन्हें लग रहा था के सारे कार्ड वगैरा पर्स में थे उन्हें बदलने में बड़ी दिक़्क़त होगी .

उसके बाद वो इस बात चीत को भूल गए

कुछ हफ़्तों बाद वो डॉक्टर उसी कॉमा के मरीज़ से साथ थे जो अब अपनी गहरी नींद से  होश में आ चुके थे, तभी उनसे ये पुछा गया -

"डॉक्टर साहेब, क्या आपको अपना पर्स मिला?"

डॉक्टर साहब बता रहे थे के उनकी पूरी ज़िन्दगी में उन्हें कभी इससे बड़ा झटका नहीं लगा था

इस जवाब जो अलग से खोलें
1 बार देखा गया · 0 Upvotes
Upvote 0
क्या आप इस सवाल का अच्छा सा जवाब दे सकते हैं ?

जवाब लिखें