सवाल

भारत के कुछ गुमनाम लोग कौन हैं ?

किरात सदस्यों द्वारा लिखे गये जवाब

जीवन के अनुभव
, व्यापर करते हैं

जवाब 2 years पहले लिखा गया • आपको इस में दिलचस्पी हो सकती है

ये आदमी

  NDRF के कमांडेंट अलोक अवस्थी.

याद कीजिये जापान के 2011 में हुए फुकुशिमा परमाणु आपदा को 
इस आपदा में रेडिएशन के कारण हज़ारों लोग मारे गए और लाखों जख्मी हुए थे.

भूकंप, सुनामी और रेडिएशन तीनो आपदाओं के एक साथ आने के कारण  पूरा जापान बर्बाद हो चूका था .

ज़्यादा रिस्क होने और विशेषग्यता की कमी के कारण 194 देशों में से केवल 23 देशों ने मदद की पेशकश की और राहत कर्मियों को बचाव कार्य के लिए भेजा.

भारत ने National Disaster Response Force (NDRF) के 46 लोगों की एक टीम तैयार की जिसके लीडर थे कमांडेंट अलोक अवस्थी .

जब सरे 22 देशों  ने बार बार आने वाले भूकंप के कारण अपने लोगों को वापस बुला लिए तब भारत आगे आया.

26 March 2011, को NDRF की टीम को  Miyagi प्रीफेक्चर नामक जगह ड्यूटी दी गयी जो सारे क्षेत्रों में सब से ज़्यादा प्रभावित क्षेत्र था .
Miyagi पूरी तरह से बर्बाद और मलबे से भरा हुआ था .

NDRF की टीम ने 8800 किलो वज़नी सामान पहुंचाया जिसमे खाना और पानी शामिल था
वे अपने नंगे हाथों से मलबे की खुदाई करते वो भी -2°C के तापमान पर, क्यों के जापानियों में मृत व्यक्ति की इज़्ज़त और एहतराम होता है और मरे शरीर को काटने या ख़राब होने बुरा समझा जाता है

वे लोग 10 दिन टेम्पररी तम्बुओं में  बिना नहाये-धोये रहे क्यों के वो अपना रेडिएशन सूट नहीं उतार सकते थे और  दिन में केवल एक बार खाना खाते जब की काम तीव्रता के भूकंप भी आते रहते

इन्होने कुल ७ लाशें और 4 करोड़ रूपए वगैरा बरामद किये  .
Miyagi के लोगों और वहां के मेयर ने NDRF की बहुत तारीफ की और इस बात को सराहा के उन्होंने मलबा खोदते हुए वहां के क्षेत्रीय रीती रिवाजों का सम्मान किआ

उन्हें  जापान में राष्ट्रीय पुरुस्कार दिए गया और उनसे वहां के प्रधानमंत्री भी मिले

"अपने जवानो को  उत्साहित  रखना बहुत बड़ा काम था क्यों के उन सब के पास रेडिएशन मापने का यंत्र था जिसमे रेडिएशन हर समय बहुत ज़्यादा दिखलाई दे रहा था " ~कमांडेंट अलोक  अवस्थी .

2013 में जापानी सम्राट ने अपने दौरे के लिए तीन दर्जन देशों में से भारत को चुना क्यों के उन्हें आपदा के समय भारत की मदद याद रही .

अलोक  अवस्थी जी को जापान का राष्टीय मेहमान घोषित किआ गया और जब भी जापान से कोई गणमान्य अतिथि आता है तो अवस्थी जी का नाम मेहमानो की लिस्ट में ज़रूर होता है 

सर अभी CRPF में DIG हैं .

 46 लोगों की उस टीम को भारत में अभी कोई पहचान नहीं मिली है जैसी की उन्हें जापान में मिली

टीम  :

धनयवाद!

इस जवाब जो अलग से खोलें
1 बार देखा गया · 0 Upvotes
Upvote 0
क्या आप इस सवाल का अच्छा सा जवाब दे सकते हैं ?

जवाब लिखें